Ads

Roopak Alankar - रूपक अलंकार की परिभाषा, उदाहरण व सम्पूर्ण अर्थ

रूपक अलंकार (Rupak alankar): हिंदी विज़न में आपका स्वागत है। आज हम आपको रूपक अलंकार के बारे में बताने वाले हैं। दरअसल अलंकारों को दो भागों में विभाजित किया गया है - शब्दालंकार और अर्थालंकार। इसमें रूपक अलंकार अर्थालंकार के अंतर्गत आता है। आज की इस पोस्ट में हम आपको रूपक अलंकार की परिभाषा और उदाहरण के बारे में बताएंगे  जो सभी कक्षाओं के छात्रों के लिए उपयोगी साबित होगा। 

तो चलिए, बिना किसी देरी के शुरू करते हैं

Rupak alankar- रूपक अलंकार, परिभाषा भेद व उदाहरण


रूपक अलंकार की परिभाषा - ( rupak alankar ki paribhasha)

परिभाषा :- "जब उपमेय में उपमान का निषेध-रहित आरोप करते हैं, तब रूपक अलंकार होता है। इसमें उपमेय को उपमान के समान बताया जाता है।" 


सरल शब्दों में कहें तो जब किसी भी वस्तु (उपमेय) को  किसी दूसरी वस्तु (उपमान) के समान बताया जाता है और उनमें कोई अंतर नही राह जाता वहाँ रूपक अलंकार होता है। 

उदाहरण -1 

चरण सरोज पखारन लागा ।

उपर्युक्त पंक्ति में चरण (पैर) को सरोज (कमल) के समान बताया गया है अर्थात यहाँ पर रूपक अलंकार है। 

 उदाहरण - 2

चंद्र-मुख की ही बनी रहति चकोरिका है। 

उपर्युक्त पंक्ति में चंद्रमा और मुख को एक जैसा बताया जा रहा है । अतः यहाँ रूपक अलंकार है। 

रूपक अलंकार के उदाहरण ( rupak alankar ke udaharan)


उदाहरण - 3

चंद्र-मुख की ही बनी रहति चकोरिका है। 

उदाहरण - 4

चरण सरोज पखारन लागा ।

उदाहरण - 5

देबि पूजि पद कमल तुम्हारे । 
सुर नर मुनि सब होहिं सुखारे ।।

उदाहरण - 6

प्रेम-सलिल से द्वेष का सारा मल धुल जाएगा।

उदाहरण - 7

पायो जी मैंने, राम रतन धन पायो ।

उदाहरण - 8


गुर पद कमल प्रनामु करि बैठे आयसु पाइ ।
बिप्र महाजन सचिव सब जुरे सभासद आइ ॥

उदाहरण - 9

चरन कमल रज कहुँ सबु कहई ।
मानुष करनि मूरि कछु अहई ।।

उदाहरण - 10

चंद्र बदन मृग लोचन भवानी।





रूपक अलंकार के कुछ अन्य उदाहरण


उदाहरण - 11

राम कृपा भव निसा सिरानी।

उदाहरण - 12

चरण कमल बंदौ हरिराई।

उदाहरण - 13

प्रभात यौवन है वक्ष-सर में
कमल भी विकसित हुआ है कैसा ।

उदाहरण - 14

पी तुम्हारी मुख बास तरंग

उदाहरण - 15

रावन सिर सरोज बनचारी। 
चलि रघुवीर सिलीमुख धारी।।




निष्कर्ष

हां तो दोस्तों आशा करते हैं कि आपको हमारी आज की यह पोस्ट "Rupak alankar" पसंद आई होगी। आज की इस पोस्ट में हमने जाना कि 'रूपक अलंकार की परिभाषा' और  रूपक अलंकार के उदाहरण दोस्तों हमने इस पोस्ट में यही प्रयास किया है की आपको इससे जुड़ी सभी जानकारी सरल भाषा मे बता सकें। फिर भी अगर आपके मन मे कोई सवाल हो तो हमसे कमेंट में पूछ सकते हैं। 

अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आती है तो इसे अपने दोस्तों और  सोशल मीडिया पर शेयर करें और जानकारी से जुड़ी ऐसी ही पोस्ट पढ़ने के लिए हमे   Facebook Instagraam और Twitter पर follow करें। 

धन्यवाद !

आपका दिन शुभ हो !



Post a Comment

2 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad